Breaking news

  • दिल्ली: किसान प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर रैली के लिए बुराड़ी के निरंकारी समागम ग्राउंड से टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना हुए। एक प्रदर्शनकारी ने बताया, "हम टिकरी बॉर्डर जा रहे हैं, टिकरी बॉर्डर पर ट्राली खड़ी करके हम 26 जनवरी की ट्रैक्टर परेड की तैयारी करेंगे।"   
  • हमारे ​देश में जितने सड़क हादसे हो रहे हैं उससे देश की अर्थव्यवस्था में जीडीपी के 3% का नुकसान होता है। इसलिए इस राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का हर साल आयोजन महत्वपूर्ण है: राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के उद्घाटन कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह   
  • राजस्थान: राज्य में आज से 9वीं से 12वीं के छात्रों के स्कूल खुल गए हैं। जयपुर के महात्मा गांधी सरकारी स्कूल की प्रधानाचार्या ने बताया, "अभिभावकों की सहमति से बच्चों को बुलाया गया है।सरकार की गाइडलाइन है कि 10वीं और 12वीं के छात्र 9:30 बजे और 11वीं और 9वीं के छात्र 10 बजे आएंगे।"   
  • अहमदाबाद मेट्रो फेज-1 का कार्य जोर-शोर से चल रहा है, जून 2022 में जब देश स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा ये काम पूरा हो जाएगा:अहमदाबाद मेट्रो रेल परियोजना के दूसरे चरण और सूरत मेट्रो परियोजना के भूमि पूजन कार्यक्रम में केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी   
  • भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा 21 से 22 जनवरी को उत्तर प्रदेश के लखनऊ का दौरा करेंगे और राज्य के नेताओं के साथ राज्य संगठन और सरकार पर चर्चा करेंगे: बीजेपी सूत्र   

देश

गहलोत की अधिकारियों को खरी खरी : सुशासन में लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं

जयपुर: राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को आला अधिकारियों से स्‍पष्‍ट कहा कि संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह सुशासन राज्य सरकार का मूल मंत्र है और हर अधिकारी, कर्मचारी इस सूत्र वाक्य को आत्मसात कर जनता से जुड़े कामों में किसी तरह की कमी नहीं रखे। उन्‍होंने कहा कि ‘गुड गवर्नेंस’ में किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी।

इसके साथ ही गहलोत ने कार्मिक विभाग में एक अलग प्रकोष्ठ बनाने का निर्देश दिया जिसमें उन अधिकारियों व कर्मचारियों के प्रकरण भिजवाए जाएं जो काम में लापरवाह हैं, जिनके खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायतें हों या जो आदतन रूप से अनुशासनहीनता करते हों। सरकार उन प्रकरणों पर विचार कर दोषी कर्मी के विरूद्ध सख्त कार्रवाई सुनिश्‍चित करेगी।

गहलोत मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए जिला कलेक्टरों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि लोगों के वाजिब काम समय पर पूरे करना सरकार का दायित्व है, अगर किसी व्यक्ति का काम समय पर नहीं होता है तो उसे होने वाली पीड़ा के लिए सम्बन्धित अधिकारी और कर्मचारी जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि ‘गुड गवर्नेंस’ की दिशा में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आमजन की राहत के लिए जल्‍द ही ‘प्रशासन गांवों के संग’ अभियान चलाएगी। इसके लिए संबंधित विभाग अभी से तैयारी शुरू कर दें। उन्होंने कहा, ‘‘किसानों को खेत का रास्ता देने के लिए हमारी पिछली सरकार के समय कानून में संशोधन किया गया था लेकिन दुर्भाग्य से उस मंशा के अनुरूप काम नहीं हुआ।’’ उन्होंने जिला कलेक्टरों को निर्देश दिए कि काश्‍तकारों को खेतों तक रास्ता देने के लिए अभियान चलाएं।

गहलोत ने भू- अभिलेखों के कम्प्यूटरीकरण तथा तहसीलों को ऑनलाइन करने के काम को प्राथमिकता से पूरा करने के निर्देश दिए। उन्‍होंने कहा कि दुर्घटना के प्रकरणों में मुख्यमंत्री सहायता कोष से सहायता देने में देरी न हो। गहलोत ने अधिकारियों से प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में राज्‍य को अव्‍वल बनाने को कहा।

DON'T MISS

हमदाबाद, दो जून गुजरात में चक्रवाती तूफान निसर्ग

DON'T MISS

उत्तराखंड: 'कुली बेगार' के खिलाफ आंदोलन के 100 साल पूरे।

मध्य प्रदेश

मप्र के मंत्री और प्रोटेम स्पीकर ने ‘‘तांडव’’ वेब सीरिज पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

मप्र के मंत्री और प्रोटेम स्पीकर ने ‘‘तांडव’’ वेब सीरिज पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

मप्र के मंत्री और प्रोटेम स्पीकर ने ‘‘तांडव’’ वेब सीरिज पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

दिल्ली

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पुनरोद्धार परियोजना के लिये अंतरविभागीय समिति बनाएं: बैजल

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पुनरोद्धार परियोजना के लिये अंतरविभागीय समिति बनाएं: बैजल

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पुनरोद्धार परियोजना के लिये अंतरविभागीय समिति बनाएं: बैजल

देश

झुलसने से होती है बड़ी संख्या में कामगारों की मौत, देखभाल केन्द्रों की जरूरत: हर्षवर्धन

झुलसने से होती है बड़ी संख्या में कामगारों की मौत, देखभाल केन्द्रों की जरूरत: हर्षवर्धन

झुलसने से होती है बड़ी संख्या में कामगारों की मौत, देखभाल केन्द्रों की जरूरत: हर्षवर्धन

देश

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

देश

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर


trending