Breaking news

  • उत्तर प्रदेश में 30 अप्रैल को 3,10,000 सक्रिय मामले थे और आज 2,54,118 ​स​क्रिय मामले हैं। ये साबित करता है कि सरकार के लगातार प्रयासों की वजह से उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी का प्रभाव कम हो रहा है: सुरेश कुमार खन्ना, उत्तर प्रदेश के मंत्री   
  • भारत में कल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 29,86,01,699 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 18,26,490 सैंपल कल टेस्ट किए गए: भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद   
  • असम में मोरीगांव में आज सुबह 6:13 बजे रिक्टर स्केल पर 2.8 तीव्रता का भूकंप आया: नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी   
  • छत्तीसगढ़ में आज 13,846 नए #COVID19 मामले, 377 डिस्चार्ज और 212 मौतें दर्ज़ की गई।   
  • देशभर में अब तक #COVID19 टीकाकरण में 16,48,76,248 करोड़ डोज़ दी गई हैं। आज शाम 8 बजे तक 18-44 आयु वर्ग के 2.62 लाख से अधिक लाभार्थियों को वैक्सीन की डोज़ लगाई गई है: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ।   

दिल्ली

प्रधानमंत्री कोविड-19 से निपटने की ‘लोकतांत्रिक जवाबदेही’ से भाग नहीं सकते :येचुरी

नयी दिल्ली : कोरोना वायरस महामारी से निपटने के तौर-तरीकों को लेकर केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने बुधवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों की दशा के लिए जिम्मेदार हैं और वह ‘‘लोकतांत्रिक जवाबदेही’’ से भाग नहीं सकते हैं।

देश में कोविड-19 के मामले तेज गति से बढ़ने का जिक्र करते हुए येचुरी ने दावा किया कि भाजपा-शासित राज्यों में इसमें बेतहाशा वृद्धि हुई है।

उन्होंने दावा किया कि पिछले पखवाड़े में बिहार में संक्रमण के मामलों में 1,000 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई और उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के मामले बढ़ते जा रहे हैं, वहीं मध्य प्रदेश सरकार ने अपने राज्य के मामलों से जुड़े आंकड़ों को धड़ल्ले से दबा दिया।

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव ने ट्वीट किया, ‘‘ पीएम केयर्स एक निजी कोष है। महामारी के चलते हुई दुर्दशा जगजाहिर है। उप्र और गुजरात जैसे भाजपा शासित राज्यों में प्रशासन चरमरा गया है, जिस बारे में वहीं के मंत्रियों और सांसदों की स्वीकारोक्ति आई है। मीडिया में आई खबरों और तस्वीरों से सच्चाई नजर आती है, जिसे किसी तरह का पीआर (जनसंपर्क या प्रचार) छिपा नहीं सकता। जो लोग वोट देने वाले हैं वे भाजपा के शासन की सच्चाई देख सकते है, जिसे मोदी/शाह (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह) का कोई दुष्प्रचार ढंक नहीं सकता है। ’’

मंगलवार को उत्तर प्रदेश और गुजरात में अब तक के प्रतिदिन के सर्वाधिक मामले सामने आये थे, जो क्रमश 18,201 और 6,990 थे। जबकि उत्तर प्रदेश में 85 तथा गुजरात में 67 और संक्रमितों की मौत हुई।

येचुरी ने कहा, ‘‘हमारा संवैधानिक लोकतंत्र जवाबदेही पर चलता है। लोगों की टाले जा सकने वाली इस पीड़ा, दशा और परेशानी के लिए प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं। वह लोकतांत्रिक जवाबदेही से भाग नहीं सकते हैं और उन्हें देश को अवश्य ही जवाब देना होगा। पीआर, दुष्प्रचार और तमाशे के लिए अपनी गोदी मीडिया का इस्तेमाल कर मुद्दे से नहीं भटकाएं।’’

उन्होंने सरकार से लोगों के लिए स्पेशल ट्रेनें और परिवहन सेवाएं मुफ्त उपलब्ध कराने की अपील की।

उन्होंने कहा, ‘‘मानवीय त्रासदी, लॉकडाउन को दोहराने से बचा जाए। महामारी का प्रसार रोकना भी जरूरी है। ’’

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे के आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 1,84,372 नये मामले सामने आए हैं।

दिल्ली

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लेने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लेने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लेने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे।

तमिलनाडु

मोदी ने स्टालिन को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर दी बधाई

मोदी ने स्टालिन को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर दी बधाई

मोदी ने स्टालिन को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर दी बधाई

देश

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन निराशाजनक, हमें सीख लेनी होगी: सोनिया

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन निराशाजनक, हमें सीख लेनी होगी: सोनिया

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन निराशाजनक, हमें सीख लेनी होगी: सोनिया

राजस्थान

राजस्थान, मध्यप्रदेश में पेट्रोल 102 रुपये लीटर तक पहुंचा, लगातार चौथी दिन बढ़े दाम

राजस्थान, मध्यप्रदेश में पेट्रोल 102 रुपये लीटर तक पहुंचा, लगातार चौथी दिन बढ़े दाम

राजस्थान, मध्यप्रदेश में पेट्रोल 102 रुपये लीटर तक पहुंचा, लगातार चौथी दिन बढ़े दाम

देश

यदि भारत में टी20 विश्व कप खेलना असुरक्षित है तो बेहतर यही होगा कि उसे वहां न खेला जाए : कमिन्स

यदि भारत में टी20 विश्व कप खेलना असुरक्षित है तो बेहतर यही होगा कि उसे वहां न खेला जाए : कमिन्स

यदि भारत में टी20 विश्व कप खेलना असुरक्षित है तो बेहतर यही होगा कि उसे वहां न खेला जाए : कमिन्स


trending