नेतन्याहू के साथ इजराइल और हमास नेताओं के गिरफ्तारी वारंट जारी किया जाए

ICC-prosecutor-arrest-warrants-netanyahu-israeli-hamas 

- अंतरराष्ट्रीय अपराध अदालत के मुख्य अभियोजक ने किया अनुरोध




हेग, 21 मई (हि.स.)। इजराइल पर हमास के हमले के बाद जवाबी कार्रवाई में हजारों लोगों की मौत और नरसंहार मामले में अंतरराष्ट्रीय अपराध अदालत (आईसीसी) ने बड़ा कदम उठाते हुए प्रधानमंत्री नेतन्याहू समेत इजराइली और हमास नेताओं के खिलाफ मानवता के खिलाफ अपराध करने पर गिरफ्तारी वारंट जारी करने को कहा है।



यह मांग आईसीसी के मुख्य अभियोजक करीम खान ने सोमवार को पिछले सात महीने के युद्ध के दौरान इन नेताओं के कृत्यों के संबंध में गिरफ्तारी वारंट का अनुरोध किया है।



करीम खान ने कहा कि उनका मानना है कि नेतन्याहू, उनके रक्षा मंत्री योव गैलेंट और हमास के तीन नेता–येह्या सिनवार, मोहम्मद दीफ और इस्माइल हनियेह-गाजा पट्टी एवं इजराइल में युद्ध अपराधों और मानवता के खिलाफ अपराधों के लिए जिम्मेदार हैं। खान ने इजराइली कार्रवाइयों के बारे में एक बयान में कहा कि गाजा की नागरिक आबादी के खिलाफ अन्य हमलों और सामूहिक दंड के साथ ही युद्ध की एकविधि के रूप में भुखमरी का इस्तेमाल करने का असर साफ तौर पर नजर आता है। उन्होंने कहा कि इनमें कुपोषण, निर्जलीकरण, गहन पीड़ा और शिशुओं, अन्य बच्चों और महिलाओं सहित फलस्तीनी आबादी में हुई मौतें भी शामिल हैं।



खान ने सात अक्टूबर की हमास की कार्रवाइयों के बारे में कहा कि उन्होंने आज दायर आवेदनों में लगाए आरोपों में उल्लेखित इन हमलों के विनाशकारी दृश्य और अपराधों के गहरे प्रभाव को स्वयं देखा है। उन्होंने आगे कहा कि जिंदा बचे लोगों के साथ बातचीत में, मैंने सुना कि कैसे एक परिवार के भीतर, एक माता पिता और उनके बच्चे के बीच प्रेम का रिश्ता युद्ध की भेंट चढ़ गया। ये कार्रवाई जवाबदेही की मांग करती है।



हिन्दुस्थान समाचार / अजीत तिवारी/प्रभात