Breaking news

  • देश में अब तक लगाए गए कोविड-19 के टीके की कुल खुराक की संख्या बृहस्पतिवार को 84 करोड़ को पार कर गई : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ।   
  • मसला सिर्फ़ 3 साल का नहीं है, उनको पता है कि 2026 में BJP की सरकार बनेगी इसलिए वह ऐसे बयान दे रहे हैं। जहां तक अभिषेक बनर्जी की बात है तो उनको कई घोटालों में नोटिस जारी है: TMC नेता अभिषेक बनर्जी द्वारा BJP को 3 साल में हटाने वाले बयान पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी ।   
  • दिल्ली में कोविड-19 के 48 नए मामले सामने आए, संक्रमण से किसी मरीज की मौत नहीं ।   
  • भारत के मुख्य न्यायधीश एन.वी. रमना ने कहा है कि उच्चतम न्यायालय कथित पेगासस जासूसी विवाद की जांच के लिए एक तकनीकी विशेषज्ञ समिति का गठन कर रहा है।   
  • भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 31,923 नए मामले आए, 31,990 रिकवरी हुईं और 282 लोगों की कोरोना से मौत हुई। #COVID19 कुल मामले: 3,35,63,421 सक्रिय मामले: 3,01,640 कुल रिकवरी: 3,28,15,731 कुल मौतें: 4,46,050 कुल वैक्सीनेशन: 83,39,90,049   

विदेश

कोविड-19 लंबे वक्त तक होने वाली संज्ञानात्मक समस्याओं से संबंधित : अनुसंधानकर्ता

वाशिंगटन : अनुसंधानकर्ताओं ने पाया है कि कोविड-19 लगातार होने वाले संज्ञानात्मक नुकसान से जुड़ा है, जिसमें अल्जाइमर (मानसिक रोग) के लक्षणों में तेजी आना भी शामिल है।

कोविड-19 से जुड़ी सांस संबंधी और पेट एवं आंतों से संबंधित लक्षणों के साथ ही वायरस से संक्रमित कई लोगों को अल्पकालिक और दीर्घकालिक न्यूरोसाइकिएट्रिक (मस्तिष्क संबंधी) लक्षणों का अनुभव होता है जिनमें स्वाद एवं गंध की शक्ति चले जाना और संज्ञानात्मक तथा ध्यान केंद्रित कर पाने में कमी जैसी स्थितियां शामिल हैं जिसे ‘ब्रेन फॉग’ के नाम से जाना जाता है।

अंतरराष्ट्रीय, बहुविषयक परिसंघ द्वारा यूनान एवं अर्जेंटीना से मिले शुरुआती परिणामों में दिखा कि अधिक उम्र के लोगों में सार्स-सीओवी-2 संक्रमण से उबरने के बाद लगातार संज्ञानात्मक हानि होती रहती है यानी उन्हें चीजें याद रखने में, नयी चीजें सीखने में, ध्यान केंद्रित कर पाने और रोजमर्रा की जिंदगी को प्रभावित करने वाले फैसले लेने में दिक्कत होती है। इनमें अक्सर स्वाद महसूस कर पाने की शक्ति का चले जाना भी शामिल है।

इस परिसंघ में करीब 40 देशों के वैज्ञानिक और प्रतिनिधि शामिल हैं जिन्हें केंद्रीय मस्तिष्क तंत्र (नर्वस सिस्टम) पर कोविड-19 के दीर्घकालिक प्रभावों का आकलन करने के लिए केंद्रीय विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से तकनीकी मार्गदर्शन प्राप्त है।

इन परिणामों को अमेरिका के डेनवर में 26 जुलाई से 30 जुलाई के बीच हुए अल्जाइमर संगठन के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में प्रस्तुत किया गया।

परिसंघ के अन्य महत्त्वपूर्ण परिणामों में सामने आया कि मस्तिष्क की चोट, मस्तिष्क में सूजन और अल्जाइमर के जैविक संकेत कोविड-19 रोगियों में मस्तिष्क संबंधी लक्षणों की उपस्थिति के साथ मजबूती से संबंधित हैं।

अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि कोविड से उबरने के बाद संज्ञानात्मक समस्याएं महसूस करने वाले व्यक्तियों में थोड़ी सी भी शारीरिक मेहनत के बाद खून में ऑक्सीजन का प्रवाह कम होने के साथ ही शारीरिक स्थिति भी प्रभावित होती है।

पंजाब

पुलिस को मेरे सुरक्षा घेरे में कटौती करने को कहा है:चन्नी

पुलिस को मेरे सुरक्षा घेरे में कटौती करने को कहा है:चन्नी

पुलिस को मेरे सुरक्षा घेरे में कटौती करने को कहा है:चन्नी

मध्य प्रदेश

ड्रोन को उड़ाने के लिए अगले दो दिनों में उपलब्ध होगा ‘इंटरएक्टिव हवाई मानचित्र: सिंधिया

ड्रोन को उड़ाने के लिए अगले दो दिनों में उपलब्ध होगा ‘इंटरएक्टिव हवाई मानचित्र: सिंधिया

ड्रोन को उड़ाने के लिए अगले दो दिनों में उपलब्ध होगा ‘इंटरएक्टिव हवाई मानचित्र: सिंधिया

दिल्ली

अर्थव्यवस्था में आने लगा सुधार, संगठित क्षेत्र साल अंत तक कोविड-पूर्व स्तर पर पहुंच जाएगा: मोंटेक

अर्थव्यवस्था में आने लगा सुधार, संगठित क्षेत्र साल अंत तक कोविड-पूर्व स्तर पर पहुंच जाएगा: मोंटेक

अर्थव्यवस्था में आने लगा सुधार, संगठित क्षेत्र साल अंत तक कोविड-पूर्व स्तर पर पहुंच जाएगा: मोंटेक

मुंबई

Pornography Case: गहना वशिष्ठ ने क्राइम ब्रांच के सामने कहा- 'मेरे पास हर चीज का प्रूफ है'

Pornography Case: गहना वशिष्ठ ने क्राइम ब्रांच के सामने कहा- 'मेरे पास हर चीज का प्रूफ है'

Pornography Case: गहना वशिष्ठ ने क्राइम ब्रांच के सामने कहा- 'मेरे पास हर चीज का प्रूफ है'

मुंबई

Deepika Padukone ने कहा पीवी सिंधु को वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए कर रही हैं तैयार

Deepika Padukone ने कहा पीवी सिंधु को वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए कर रही हैं तैयार

Deepika Padukone ने कहा पीवी सिंधु को वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए कर रही हैं तैयार


trending