Breaking news

  • जमूरा कहा गया है न मुझे। मुझे बता दीजिए कि अगर मैं जमूरा हूं तो मदारी कौन है। निरंतर मुझे यही कहा जा रहा है कि मैं PM और BJP के इशारे पर काम कर रहा हूं। एक व्यक्ति के विरोध में आप हमारे देश के प्रधानमंत्री का विरोध करने लग जाते हैं: JDU नेता संजय के बयान पर चिराग पासवान LJP   
  • विदेश मंत्री एस. जयशंकर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिका के अपने समकक्षों क्रमश: माइक पोम्पिओ और मार्क एस्पर के साथ वार्ता शुरू की।   
  • भारत में कोविड-19 के 36,470 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 79,46,429 हो गए। वहीं 488 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,19,502 हो गई : स्वास्थ्य मंत्रालय।   
  • मिज़ोरम में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 34 नए मामले सामने आए। कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या अब 2,527 है जिसमें 315 सक्रिय मामले और 2,212 डिस्चार्ज हो चुके मामले शामिल हैं: सूचना और जनसंपर्क विभाग, मिज़ोरम सरकार   
  • दिल्ली: 74वां इन्फैंट्री डे (Infantry Day) पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने नेशनल वॉर मेमोरियल पर श्रद्धांजलि अर्पित की।   

दिल्ली

दिल की बीमारियों को दूर करने में कारगर साबित होता है सिंघाड़ा

नई दिल्ली, सिंघाड़ा पानी में उपजने वाला एक फल है जो आकार में त्रिभुज की तरह होता है। भारत सहित एशिया, अफ्रीका और यूरोप के कई देशों में इसकी खेती की जाती है। सिंघारा के फल में सींग की तरह दो कांटे होते हैं। अंग्रेजी में इसे वाटर चेस्टनट कहा जाता है। इसके फल का सेवन किया जाता है। जबकि छिलके से आटा बनाया जाता है। इसके लिए सिंघाड़ा के छिलके को अच्छी तरह से सूखाकर आटा तैयार किया जाता है। इस आटे का विशेष महत्व है, क्योंकि व्रत के दौरान लोग फलाहार के रूप में इसका सेवन करते हैं। इसमें पानी अधिक मात्रा में पाया जाता है।

आयुर्वेद में इसे दवा माना जाता है। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो सेहत के लिए लाभदायक होते हैं। खासकर दिल की बीमारियों के लिए यह रामबाण औषधि है। साथ ही गले में खराश, थकावट, सूजन और ब्रोंकाइटिस में फायदेमंद है। आइए जानते हैं कि कैसे सिंघाड़ा दिल की बीमारियों के लिए रामबाण दवा है-

जैसा कि हम सब जानते हैं कि उच्च रक्त चाप की वजह से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसके लिए डॉक्टर पोटेशियम युक्त फल और सब्जियां खाने की सलाह देते हैं। जबकि सिंघाड़ा में पोटेशियम अधिक मात्रा में पाया जाता है। यह सोडियम से प्रतिक्रया कर रक्त चाप को कम अथवा संतुलित करता है। साथ ही सिंघाड़ा बुरे कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करता है। अतः दिल की बीमारियों के लिए यह उत्तम फल है।

INTERNATIONAL RESEARCH JOURNAL OF PHARMACY के एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि सिंघाड़ा कई बीमारियों के खतरे को दूर करने में सक्षम है। जबकि सिंघाड़े में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है जो वजन घटाने में फायदेमंद है। अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो सिंघाड़े को अपने स्नैक में जरूर जोड़ें।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 

DON'T MISS

हमदाबाद, दो जून गुजरात में चक्रवाती तूफान निसर्ग

DON'T MISS

iPhone के लिए स्टाइलिश icons बनाकर ये डिजाइनर कमा रहा करोड़ों

देश

सोन और केन की जोड़ी ने टोटेनहैम को दिलायी जीत

सोन और केन की जोड़ी ने टोटेनहैम को दिलायी जीत

सोन और केन की जोड़ी ने टोटेनहैम को दिलायी जीत

देश

बिहार में बदलाव की बयार, जनता की आवाज महागठबंधन के साथ: सोनिया

बिहार में बदलाव की बयार, जनता की आवाज महागठबंधन के साथ: सोनिया

बिहार में बदलाव की बयार, जनता की आवाज महागठबंधन के साथ: सोनिया

नोएडा

नोएडा में पुलिस के साथ मुठभेड़ के बाद पांच बदमाश गिरफ्तार

नोएडा में पुलिस के साथ मुठभेड़ के बाद पांच बदमाश गिरफ्तार

नोएडा में पुलिस के साथ मुठभेड़ के बाद पांच बदमाश गिरफ्तार

विदेश

अमेरिका ने ताइवान को हथियारों की 2.37 अरब डॉलर की ब्रिकी के संबंध में घोषणा की

अमेरिका ने ताइवान को हथियारों की 2.37 अरब डॉलर की ब्रिकी के संबंध में घोषणा की

अमेरिका ने ताइवान को हथियारों की 2.37 अरब डॉलर की ब्रिकी के संबंध में घोषणा की

दिल्ली

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए नया कानून लाएगी सरकार

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए नया कानून लाएगी सरकार

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए नया कानून लाएगी सरकार


trending