Breaking news

  • जम्मू-कश्मीर: सेना के स्वास्थ्यकर्मियों को जम्मू के मिलिट्री अस्पताल में कोविड की वैक्सीन दी जा रही है। ब्रिगेडियर के.जे. सिंह ने बताया, "हमारे पास 800 स्वास्थ्यकर्मी हैं। हम सबसे पहले उन्हें वैक्सीन दे रहे हैं। पहला डोज आज लगा रहे हैं, दूसरा डोज अगले 4 हफ्तों के बाद लगाएंगे"   
  • दिल्ली: दिल्ली पुलिस कमिश्नर एस.एन.श्रीवास्तव गणतंत्र दिवस पर होने वाली किसानों द्वारा ट्रैक्टर रैली की तैयारियों का जायज़ा लेने मुकरबा चौक पहुंचे। उन्होंने कहा,"किसानों से बातचीत करने के बाद हमने रूट तय कर दिया है जिसको वो मानते हैं। हमें उम्मीद हैं कि वो उसी रूट पर ही जाएंगे।"   
  • आज हमने 50 वर्ष की यात्रा तय की है। हमने बहुत से मोड़ देखे, बहुत सी ऊंचाइयां देखी, बहुत से कष्ट भी देखे। तमाम बाधाओं को पार करते हुए आज हम अच्छे राज्य के रूप में आगे बढ़ रहे हैं: हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व दिवस के स्वर्ण जयंती समारोह में जे.पी.नड्डा   
  • राहुल गांधी को इतना बड़ा झूठ बोलते हुए शर्म नहीं आई? कांग्रेस झूठ की बुनियाद पर टिकी हुई है, देश को अगर किसी ने कमजोर किया है तो वो कांग्रेस पार्टी ही है। देश के विभाजन का पाप भी कांग्रेस के माथे पर है: शिवराज सिंह चौहान, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री   
  • हम किसी को ‘जय श्री राम’ कहने पर मजबूर नहीं कर रहे है : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोलकाता में नारे लगने के बाद ममता बनर्जी के कार्यक्रम से जाने पर कहा।   

देश

क्यों होता है ब्रेस्ट में सूजन, जानें कारण, लक्षण और इलाज

महिला का स्तन यानी ब्रेस्ट उनके शरीर का सबसे ज्यादा संवेदनशील भाग है. इसलिए महिलाओं को इसे स्वस्थ रखने के लिए खास देखभाल भी करनी होती है. ज्यादातर महिलाओं को स्तन से जुड़ी समस्याओं की कम जानकारी होती है,

तभी तो स्तन में जरा-सा बदलाव उन्हें तनाव में डाल देता है. इन्हीं बदलावों में से एक है स्तनों में सूजन आना. myUpchar के अनुसार, स्तनों में सूजन आने पर उसके लक्षण साफ दिखने और महसूस होने लगते हैं. सूजन आने पर स्तनों के बनावट में बदलाव होता है, आसपास की त्वचा में परिवर्तन होता है और स्तनों में भारीपन महसूस होता है. यही नहीं, स्तनों को छूने पर गर्माहट सी महसूस हो सकती है। इसके अलावा स्तनों के आसपास छूने पर दर्द भी हो सकता है.

आखिर ये सूजन होती क्यों है और किन कारणों से होती है यह समझना जरूरी है. स्तन चार ऊतक संरचनाओं से बने होते हैं जिसमें फैट टिश्यू यानी वसा ऊतक, मिल्क डक्ट यानी दुग्ध नलिकाएं, ग्लैंड्स यानी ग्रंथियां और कनेक्टिव टिश्यू यानी संयोजी ऊतक शामिल हैं. स्तनों के ऊतकों में बदलाव स्तन में सूजन पैदा करते हैं. जब फैट टिश्यू में द्रव की मात्रा ऊपर-नीचे होती है तो इससे भी स्तनों में सूजन आ जाती है. यही नहीं, कई बार स्तनों में सूजन रजोनिवृत्ति यानी मेनोपॉज के दौरान भी होती है क्योंकि ऐसे समय में हार्मोन में काफी बदलाव होते हैं. शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन का उत्पादन भी पीरियड्स की शुरुआत से पहले बढ़ता है और इस बदलाव के साथ स्तन की दुग्ध ग्रंथियां बढ़ जाती हैं. यह वाटर रिटेंशन का कारण भी बन सकता है जिससे स्तन में सूजन बढ़ जाती है.

myUpchar के अनुसार, शरीर मुख्य रूप से पानी से बना है और जब हाइड्रेशन स्तर संतुलित नहीं होता है तो वाटर रिटेंशन की समस्या आती है. बता दें, फुलाव, मोटा होना, सूजन आदि वाटर रिटेंशन की सामान्य समस्याएं हैं. स्तनों में सूजन से राहत पाने के लिए कुछ उपाय किए जा सकते हैं, जिसमें कपड़े में बर्फ के टुकड़े लपेटकर सूजन वाली जगह पर कुछ मिनटों के लिए लगाना शामिल है. इसके अलावा कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल किया जा सकता है, जिसमें ऐसा एसिड होता है, जो स्तन के दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करता है. इसके लिए एक चम्मच कैस्टर ऑयल के साथ दो चम्मच कोई भी साधारण तेल मिलाएं और इससे मसाज करें.


हालांकि, स्तन में सूजन के लक्षणों के नजर आने पर डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है. अगर पीरियड्स में हुए हार्मोनल बदलाव की वजह से यह सूजन बनी है तो डॉक्टर बर्थ कंट्रोल पिल्स लेने की सुझाव दे सकते हैं. इसकी वजह यह है कि यह स्तन में सूजन के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है. अगर यह सूजन संक्रमण के कारण है, तो डॉक्टर एंटीबायोटिक दवाएं दे सकते हैं. खास बात यह है कि सूजन का कारण अगर कैंसर हुआ तो समय पर इसकी स्थिति के बारे में पता चल सकता है और डॉक्टर उसके हिसाब से थेरपी या सर्जरी की सलाह दे सकते हैं.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, ब्रेस्ट में सूजन पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.


अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें।

DON'T MISS

हमदाबाद, दो जून गुजरात में चक्रवाती तूफान निसर्ग

DON'T MISS

अंडमान-निकोबार में कोरोना वायरस संक्रमण के पांच नए मामले

मुंबई

भाबीजी घर पर हैं’ की नई ‘अनीता भाभी’ ने अपनी अदाओं से किया सभी को ‘घायल’, प्रोमो आया सामने

भाबीजी घर पर हैं’ की नई ‘अनीता भाभी’ ने अपनी अदाओं से किया सभी को ‘घायल’, प्रोमो आया सामने

भाबीजी घर पर हैं’ की नई ‘अनीता भाभी’ ने अपनी अदाओं से किया सभी को ‘घायल’, प्रोमो आया सामने

उत्तर प्रदेश

उप्र विधान मंडल का 2021 का प्रथम सत्र 16 फरवरी से, डाटा सेंटर नीति को मंजूरी

उप्र विधान मंडल का 2021 का प्रथम सत्र 16 फरवरी से, डाटा सेंटर नीति को मंजूरी

उप्र विधान मंडल का 2021 का प्रथम सत्र 16 फरवरी से, डाटा सेंटर नीति को मंजूरी

मध्य प्रदेश

सिंधिया परिवार ने दो दफा प्रदेश में कांग्रेस को सत्ता से हटाया: चौहान

सिंधिया परिवार ने दो दफा प्रदेश में कांग्रेस को सत्ता से हटाया: चौहान

सिंधिया परिवार ने दो दफा प्रदेश में कांग्रेस को सत्ता से हटाया: चौहान

जम्मू और कश्मीर

सूबेदार संजीव कुमार को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया जाएगा

सूबेदार संजीव कुमार को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया जाएगा

सूबेदार संजीव कुमार को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया जाएगा

देश

कंपनी-विवि अपीलीय न्याधिकरण की चेन्नई पीठ से दक्षिण राज्यों की कंपनियों, पक्षों को होगी आसानी

कंपनी-विवि अपीलीय न्याधिकरण की चेन्नई पीठ से दक्षिण राज्यों की कंपनियों, पक्षों को होगी आसानी

कंपनी-विवि अपीलीय न्याधिकरण की चेन्नई पीठ से दक्षिण राज्यों की कंपनियों, पक्षों को होगी आसानी


trending