Breaking news

  • दिल्ली: किसान प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर रैली के लिए बुराड़ी के निरंकारी समागम ग्राउंड से टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना हुए। एक प्रदर्शनकारी ने बताया, "हम टिकरी बॉर्डर जा रहे हैं, टिकरी बॉर्डर पर ट्राली खड़ी करके हम 26 जनवरी की ट्रैक्टर परेड की तैयारी करेंगे।"   
  • हमारे ​देश में जितने सड़क हादसे हो रहे हैं उससे देश की अर्थव्यवस्था में जीडीपी के 3% का नुकसान होता है। इसलिए इस राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का हर साल आयोजन महत्वपूर्ण है: राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के उद्घाटन कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह   
  • राजस्थान: राज्य में आज से 9वीं से 12वीं के छात्रों के स्कूल खुल गए हैं। जयपुर के महात्मा गांधी सरकारी स्कूल की प्रधानाचार्या ने बताया, "अभिभावकों की सहमति से बच्चों को बुलाया गया है।सरकार की गाइडलाइन है कि 10वीं और 12वीं के छात्र 9:30 बजे और 11वीं और 9वीं के छात्र 10 बजे आएंगे।"   
  • अहमदाबाद मेट्रो फेज-1 का कार्य जोर-शोर से चल रहा है, जून 2022 में जब देश स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा ये काम पूरा हो जाएगा:अहमदाबाद मेट्रो रेल परियोजना के दूसरे चरण और सूरत मेट्रो परियोजना के भूमि पूजन कार्यक्रम में केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी   
  • भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा 21 से 22 जनवरी को उत्तर प्रदेश के लखनऊ का दौरा करेंगे और राज्य के नेताओं के साथ राज्य संगठन और सरकार पर चर्चा करेंगे: बीजेपी सूत्र   

देश

बृहस्पति और शनि ग्रह सदियों बाद बेहद नजदीक आएंगे

केप केनावरल (अमेरिका): सौरमंडल में सोमवार को एक बड़ी खगोलीय घटना देखने को मिलेगी और इस दौरान दो बड़े ग्रह बृहस्पति और शनि एक दूसरे के बेहद नजदीक आ जाएंगे। ये दोनों ग्रह इससे पहले 17वीं शताब्दी में महान खगोलविद गैलीलियो के जीवनकाल में इतने पास आए थे।

अंतरिक्ष वैज्ञानिकों का कहना है कि हमारे सौरमंडल में दो बड़े ग्रहों का नजदीक आना बहुत दुर्लभ नहीं है। बृहस्पति ग्रह अपने पड़ोसी शनि ग्रह के पास से प्रत्येक 20 साल पर गुजरता है, लेकिन इसका इतने नजदीक आना खास है।

वैज्ञानिकों का कहना है कि दोनों ग्रहों के बीच उनके नजरिए से सिर्फ 0.1 डिग्री की दूरी रह जाएगी। अगर मौसम स्थिति अनुकूल रहती है तो ये आसानी से सूर्यास्त के बाद दुनिया भर से देखे जा सकते हैं। यह घटना 21 दिसंबर 2020 को होने जा रही है। यह साल का सबसे छोटा दिन माना जाता है।

वांदरबिल्ट विश्वविद्यालय में खगोलशास्त्र के प्रोफेसर डेविड वेनट्रॉब ने कहा, ‘‘ मेरा मानना है कि यह कहना उचित होगा कि यह घटना आम तौर पर किसी व्यक्ति के जीवन में एक ही बार आता है।’’

उल्लेखनीय है कि इससे पहले जुलाई, 1623 में दोनों ग्रह इतने करीब आए थे लेकिन सूर्य के नजदीक होने की वजह से उन्हें देख पाना लगभग असंभव था।


वहीं, उससे पहले मार्च, 1226 में दोनों ग्रह करीब आए थे और इस घटना को धरती से देखा जा सकता था। इसके बाद से अब तक पहली बार हो रहा है जब यह खगोलीय घटना हो रही है और इसे देखा भी जा सकता है।

एपी स्नेहा धीरज धीरज 1912 1218 केपकेनवरल जसजस आवश्यक .केपकेनवरल प्रादे 19 बृहस्पति शनि ग्रह नजदीक आसमान में 21 दिसंबर को दिखेगा दुर्लभ नजारा, सदियों बाद बृहस्पति- शनि आएंगे नजदीक केप केनावरल (अमेरिका), 18 दिसंबर (एपी) सौरमंडल में सोमवार को एक बड़ी खगोलीय घटना देखने को मिलेगी और इस दौरान दो बड़े ग्रह बृहस्पति और शनि एक दूसरे के बेहद नजदीक आ जाएंगे। ये दोनों ग्रह इससे पहले 17वीं शताब्दी में महान खगोलविद गैलीलियो के जीवनकाल में इतने पास आए थे।

अंतरिक्ष वैज्ञानिकों का कहना है कि हमारे सौरमंडल में दो बड़े ग्रहों का नजदीक आना बहुत दुर्लभ नहीं है। बृहस्पति ग्रह अपने पड़ोसी शनि ग्रह के पास से प्रत्येक 20 साल पर गुजरता है, लेकिन इसका इतने नजदीक आना खास है।

वैज्ञानिकों का कहना है कि दोनों ग्रहों के बीच उनके नजरिए से सिर्फ 0.1 डिग्री की दूरी रह जाएगी। अगर मौसम स्थिति अनुकूल रहती है तो ये आसानी से सूर्यास्त के बाद दुनिया भर से देखे जा सकते हैं। यह घटना 21 दिसंबर 2020 को होने जा रही है। यह साल का सबसे छोटा दिन माना जाता है।


वांदरबिल्ट विश्वविद्यालय में खगोलशास्त्र के प्रोफेसर डेविड वेनट्रॉब ने कहा, ‘‘ मेरा मानना है कि यह कहना उचित होगा कि यह घटना आम तौर पर किसी व्यक्ति के जीवन में एक ही बार आता है।’’

उल्लेखनीय है कि इससे पहले जुलाई, 1623 में दोनों ग्रह इतने करीब आए थे लेकिन सूर्य के नजदीक होने की वजह से उन्हें देख पाना लगभग असंभव था।



वहीं, उससे पहले मार्च, 1226 में दोनों ग्रह करीब आए थे और इस घटना को धरती से देखा जा सकता था। इसके बाद से अब तक पहली बार हो रहा है जब यह खगोलीय घटना हो रही है और इसे देखा भी जा सकता है।

DON'T MISS

हमदाबाद, दो जून गुजरात में चक्रवाती तूफान निसर्ग

DON'T MISS

ठाणे में कोरोना वायरस संक्रमण के 445 नए मामले सामने आए, 14 रोगियों की मौत

देश

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

देश

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

महाराष्ट्र

मीडिया ट्रायल से न्याय देने की प्रक्रिया बाधित होती है: बंबई उच्च न्यायालय

मीडिया ट्रायल से न्याय देने की प्रक्रिया बाधित होती है: बंबई उच्च न्यायालय

मीडिया ट्रायल से न्याय देने की प्रक्रिया बाधित होती है: बंबई उच्च न्यायालय

मुंबई

ऋचा चड्ढा को मिल रही जान से मारने की धमकी, जीभ काटने पर रखा ईनाम

ऋचा चड्ढा को मिल रही जान से मारने की धमकी, जीभ काटने पर रखा ईनाम

ऋचा चड्ढा को मिल रही जान से मारने की धमकी, जीभ काटने पर रखा ईनाम

उत्तर प्रदेश

विधान परिषद चुनाव में भाजपा के विधायक भागने को तैयार : अखिलेश

विधान परिषद चुनाव में भाजपा के विधायक भागने को तैयार : अखिलेश

विधान परिषद चुनाव में भाजपा के विधायक भागने को तैयार : अखिलेश


trending