Breaking news

  • रोज़गार, स्वास्थ्य और शिक्षा चाहिए तो यह हथियार लेकर नहीं हो सकता। 23 फरवरी को 5 उग्रवादी संगठनों ने हथियार डाले। वे मुख्यधारा में आना चाहते हैं। मैं उन्हें विश्वास दिलाता हूं कि आपका इस देश में उतना ही अधिकार है जितना मेरा है: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, असम में।   
  • अगर भारत और पाकिस्तान के बीच में ऐसा समाधान निकले जिसमें भारत को न लगे कि उसकी इज्जत कम हो गई, पाकिस्तान को भी न लगे की वे हार गए और जम्मू-कश्मीर के लोगों को भी लगे कि उनकी इज्जत रही। मैं समझता हूं कि ऐसा फैसला दुनिया में रंग लाएगा: फ़ारुख़ अब्दुल्ला, नेशनल कांफ्रेंस   
  • अगर भारत और पाकिस्तान के बीच में ऐसा समाधान निकले जिसमें भारत को न लगे कि उसकी इज्जत कम हो गई, पाकिस्तान को भी न लगे की वे हार गए और जम्मू-कश्मीर के लोगों को भी लगे कि उनकी इज्जत रही। मैं समझता हूं कि ऐसा फैसला दुनिया में रंग लाएगा: फ़ारुख़ अब्दुल्ला, नेशनल कांफ्रेंस ।   
  • तमिलनाडु: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोयंबटूर में कई इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं की आधारशिला रखी।   
  • मैंने सभी राज्यों की कोरोना स्थिति के बारे में जानकारी ली है और सभी राज्यों में स्थिति भयानक है। BJP राज्य में सरकार कोरोना के आंकड़े छुपा रही है। महाराष्ट्र में जो आंकड़े हैं उसमें पारदर्शिता है जिससे लोगों में जागरूकता आ रही है: नाना पटोले, महाराष्ट्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ।   

देश

29 जनवरी से होगी माघ महीने की शुरूआत, जानिए स्नान और दान के लिए क्यों माना जाता है शुभ

29 जनवरी (शुक्रवार) से माघ मास की शुरुआत होने वाली है. यह मास 27 फरवरी 2021 तक रहेगा. इस मास में शाही स्नान और दान का बड़ा महत्व माना जाता है. कहा जाता है कि माघ मास के दौरान पवित्र नदी में स्नान कर दान करने से हर पाप से मुक्ति मिल जाती है. हिन्दू पंचांग के अनुसार, माघ मास साल का 11वां महीना होता है.

 

मान्यता है कि माघ मास के दौरान पवित्र नदी में स्नान करने से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार भी होता है. यहां तक कि लोग इस माह में भगवान सूर्य की उपासना भी करते हैं. कहा जाता है कि भगवान सूर्य की पूजा करने से जीवन में आई हर परेशानी दूर हो जाती है. भगवान सूर्य सक्ति के प्रतीक भी माने जाते हैं.

 

माघ मास में दान का बड़ा महत्व :  मान्यता है कि माघ मास में दान करने से मन को अधिक प्रसन्नता मिलती है. साथ ही साथ सकारात्मकता भी आती है. लोग इस माह में पशुओं को चारा भी खिलाते हैं. साथ ही साथ जरूरतमंद लोगों की सहायता करते हैं. कहा जाता है कि दान-पुण्य करने से मन में आया विकार भी खत्म होता है.

 

इस वजह से ख़ास माना जाता है माघ मास : ऐसा कहा जाता है कि महाभारत के युद्ध के दौरान धर्मराज युधिष्ठिर के कई परिजन मारे गए थे. उन्हें वीरगति दिलाने के लिए युधिष्ठिर ने कल्पवास किया था. इसके अलावा, गौतमऋषि ने भगवान इंद्र को श्राप दिया था. भगवान इंद्र को श्राप से मुक्ति तब मिली, जब उन्होंने माघ माह के दौरान पवित्र नदी में स्नान किया. हर साल माघ माह के दौरान लोग शाही स्नान करने के लिए पवित्र नदियों पर जमा होते हैं. इस दौरान नदियों के तट पर खासी भीड़ भी देखने को मिलती है.

DON'T MISS

हमदाबाद, दो जून गुजरात में चक्रवाती तूफान निसर्ग

DON'T MISS

इंग्लैंड में क्रिकेटरों के लिये होगा नस्लवाद निरोधक कोर्स

दिल्ली

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों से शुक्रवार को 'भारत बंद' में शामिल होने की अपील की

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों से शुक्रवार को 'भारत बंद' में शामिल होने की अपील की

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों से शुक्रवार को 'भारत बंद' में शामिल होने की अपील की

देश

सरकार किसानों की आय बढ़ाने को बांस की खेती को दे रही है प्रोत्साहन : तोमर

सरकार किसानों की आय बढ़ाने को बांस की खेती को दे रही है प्रोत्साहन : तोमर

सरकार किसानों की आय बढ़ाने को बांस की खेती को दे रही है प्रोत्साहन : तोमर

देश

सोशल मीडिया, ओटीटी और डिजिटल मीडिया कंपनियों के लिए नये नियम

सोशल मीडिया, ओटीटी और डिजिटल मीडिया कंपनियों के लिए नये नियम

सोशल मीडिया, ओटीटी और डिजिटल मीडिया कंपनियों के लिए नये नियम

चंडीगढ़

उच्च न्यायालय ने युवराज सिंह की याचिका पर हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया

उच्च न्यायालय ने युवराज सिंह की याचिका पर हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया

उच्च न्यायालय ने युवराज सिंह की याचिका पर हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया

देश

सरकार किसानों की आय बढ़ाने को बांस की खेती को दे रही है प्रोत्साहन : तोमर

सरकार किसानों की आय बढ़ाने को बांस की खेती को दे रही है प्रोत्साहन : तोमर

सरकार किसानों की आय बढ़ाने को बांस की खेती को दे रही है प्रोत्साहन : तोमर


trending