Breaking news

  • महाराष्ट्र: नागपुर जिले में पिछले 24 घंटों में #COVID19 के 5,131 नए मामले सामने आए हैं। 2,837 लोग डिस्चार्ज हुए और 65 लोगों की मृत्यु दर्ज़ की गई है।   
  • दीदी आप बंगाल के लोगों की भाग्य विधाता नहीं हैं, बंगाल के लोग आपकी जागीर नहीं हैं। बंगाल के लोगों ने तय कर दिया है कि आपको जाना ही होगा। बंगाल की जनता आपको निकाल कर ही दम लेने वाली है। आप अकेली नहीं जाएंगी, आपके पूरे गिरोह को जनता हटाने वाली है: सिलीगुड़ी में प्रधानमंत्री   
  • भारत में पिछले 24 घंटे में #COVID19 के 1,45,384 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,32,05,926 हुई। 780 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,68,436 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 10,46,631 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,19,90,859 है।   
  • पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के मतदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मतदाताओं, खासकर युवाओं और महिलाओं से रिकॉर्ड संख्या में मतदान करने की अपील की   
  • पश्चिम बंगाल: राज्य विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है। अलीपुरदौर के पुलिंग बूथ 195, 196 और 196-A पर वोट डालने के लिए लोग लाइन में खड़े दिखे।   

देश

12 अप्रैल को है सोमवती अमावस्या, जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और इसका महत्व

सनातन धर्म में पूर्णिमा और अमावस्या का बेहद खास महत्व माना जाता है. बता दें कि हर महीने के कृष्ण पक्ष की अंतिम तारीख को अमावस्या आती है और अगर यह अमावस्या सोमवार के दिन पड़ जाय तो इसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है.

 

चैत्र महीने में सोमवती अमावस्या 12 अप्रैल 2021 को है. साल 2021 की सबसे खास बात यह है कि साल 2021 में केवल एक ही सोमवती अमावस्या पड़ेगी, जिसकी वजह से इस सोमवती अमावस्या का महत्व और अधिक हो गया है. हमारे धर्म शास्त्रों में सोमवती अमावस्या के दिन किए गए दान का विशेष महत्व माना गया है. ऐसी मान्यता है कि सोमवती अमावस्या के दिन स्नान-दान करने से घर में सुख-शांति और खुशहाली आती है.

 

जानेंसोमवती अमावस्या की तारीख और शुभ मुहूर्त के बारे में:

  • सोमवती अमावस्या की तारीख12 अप्रैल 2021, दिन सोमवार
  • सोमवती अमावस्या की शुरुआत11 अप्रैल 2021, दिन रविवार को सुबह 06 बजकर 03 मिनट से.
  • सोमवती अमावस्या की समाप्ति12 अप्रैल 2021, दिन सोमवार को सुबह 08:00 बजे तक.

जानें सोमवती अमावस्या के महत्व के बारे मेंपुराणों के मुताबिक सोमवती अमावस्या के दिन स्नान-दान करने की परंपरा है. सोमवती अमावस्या के दिन वैसे को गंगा स्नान करने का विशेष महत्व होता है लेकिन यदि गंगा स्नान न हो सके तो किसी भी नदी में स्नान कर शिव-पार्वती और तुलसीजी पूजा करना चाहिए. इस दिन शिव-पार्वती और तुलसीजी की पूजा करना लाभदायक माना गया है.

 

सोमवती अमावस्या के दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की दीर्घायु के लिए व्रत रखती हैं. ऐसी भी मान्यता है कि सोमवती अमावस्या के दिन पितरों का तर्पण करने और पितरों के निमित्त दान करने से पूरे परिवार के ऊपर पितरों का आशीर्वाद बना रहता है, जिससे घर में सुख-समृद्धि और खुशहाली बनी रहती है. यदि किसी व्यक्ति के कुंडली में पितृदोष है तो सोमवती अमावस्या का दिन कुंडली के पितृदोष निवारण का बहुत उत्तम दिन माना गया है.

विदेश

संयुक्त अरब अमीरात ने दो अंतरिक्ष यात्रियों के नाम की घोषणा की

संयुक्त अरब अमीरात ने दो अंतरिक्ष यात्रियों के नाम की घोषणा की

संयुक्त अरब अमीरात ने दो अंतरिक्ष यात्रियों के नाम की घोषणा की

राजस्थान

राजस्थान सरकार ने कोविड प्रभावित परिवारों को आर्थिक मदद दी

राजस्थान सरकार ने कोविड प्रभावित परिवारों को आर्थिक मदद दी

राजस्थान सरकार ने कोविड प्रभावित परिवारों को आर्थिक मदद दी

पश्चिम बंगाल

बंगाल ममता बनर्जी को प्यार करता है: डेरेक ओ ब्रायन

बंगाल ममता बनर्जी को प्यार करता है: डेरेक ओ ब्रायन

बंगाल ममता बनर्जी को प्यार करता है: डेरेक ओ ब्रायन

दिल्ली

कोविड-19: एक वर्ष बाद भारत में स्थिति और विकट, मामलों में बढ़ोतरी, वायरस के नये स्वरूप आये सामने

कोविड-19: एक वर्ष बाद भारत में स्थिति और विकट, मामलों में बढ़ोतरी, वायरस के नये स्वरूप आये सामने

कोविड-19: एक वर्ष बाद भारत में स्थिति और विकट, मामलों में बढ़ोतरी, वायरस के नये स्वरूप आये सामने

दिल्ली

ऑनलाइन विवाद समाधान से न्याय प्रक्रिया विकेंद्रित होगी : न्यायमूर्ति चंद्रचूड़

ऑनलाइन विवाद समाधान से न्याय प्रक्रिया विकेंद्रित होगी : न्यायमूर्ति चंद्रचूड़

ऑनलाइन विवाद समाधान से न्याय प्रक्रिया विकेंद्रित होगी : न्यायमूर्ति चंद्रचूड़


trending