एंटीगुआ, 4 दिसंबर (हि.स.)। शाई होप ने रविवार को एंटीगुआ में सैम करन की चार गेंदों में तीन छक्के लगाकर इंग्लैंड के खिलाफ वेस्टइंडीज को रोमांचक जीत दिलाई। होप ने बेहतरीन और आक्रामक अंदाज में लक्ष्य का पीछा पूरा करने का श्रेय पूर्व भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी को देते हुए हुए कहा कि भारतीय दिग्गज से मिली प्रेरणा से वह ऐसा कर सके।



होप ने केवल 83 गेंदों में नाबाद 109 रन की पारी खेलकर अपनी टीम को सात गेंदे शेष रहते जीत दिला दी। इस दौरान उन्होंने आखिरी में छक्को की झड़ी लगा दी। उन्होंने 7 छक्के लगाए। यह उनका 16वां वनडे शतक और उनके करियर का सबसे तेज शतक था।



दिलचस्प बात यह है कि मैच के बाद प्रेजेंटेशन के दौरान, वेस्टइंडीज के कप्तान ने एक गेम-चेंजिंग चैट का खुलासा किया जो उन्होंने कुछ समय पहले भारत के पूर्व कप्तान एमएस धोनी के साथ की थी, जिसमें धोनी ने उन्हें एक खिलाड़ी को रन चेज़ के लिए किस मानसिकता के साथ खेलना चाहिए, इसके बारे में बताया था।



होप ने कहा, "कुछ समय पहले मेरी एमएस धोनी से बात हुई थी और उन्होंने मुझसे कहा था कि आप हमेशा क्रीज पर जितना सोचते हो उससे कहीं ज्यादा समय बिताते हो और यह बात मेरे दिमाग में बैठ गई।"



क्रिकेट वेस्टइंडीज (सीडब्ल्यूआई) के इन-हाउस चैनलों से बात करते हुए, होप ने कहा, "मैदान के आयाम और फिर वहां तेज हवा को देखते हुए मैंने सोचा कि सबसे अच्छी बात उस विशेष ओवर को लक्षित करना था। हम जानते थे कि दूसरे छोर से स्कोर करना एक चुनौती थी, खासकर हवा के विपरीत... चाहे कुछ भी हुआ हो, मैं कोशिश करने जा रहा था कि आखिरी ओवर तक खेलकर हमें मैच जीतने का सबसे अच्छा मौका मिले।"



उन्होंने कहा, "48वें ओवर के बाद, मुझे पता था कि खेल काफी हद तक संतुलन में है। अगर हमारे पास खेल खत्म करने के लिए दो ओवर है, तो मैं हमेशा एक ओवर शेष रहते हुए खेल खत्म करने की कोशिश करता हूं। मैं इसे किसी और पर नहीं छोड़ना चाहता था।"