यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो 25 से 29 सितंबर तक इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट ग्रेटर नोएडा में होगा आयोजित

up international trade show 25 se 29 sep tk india expo


- यूपीआईटीएस 2024 में नई संभावनाओं को तलाशने के लिए चर्चा

मुरादाबाद, 25 मई (हि.स.)। इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट के अध्यक्ष डा. राकेश कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने इंडिया एक्सपोज़िशन मार्ट लिमिटेड (आईईएमएल) ग्रेटर नोएडा के साथ मिलकर पिछले साल यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो (यूपीआईटीएस) का पहला संस्करण आयोजित करने की पहल की थी। शो का दूसरा संस्करण 25 से 29 सितंबर 2024 तक इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में आयोजित होगा।

डा. राकेश कुमार ने बताया कि दूसरे यूपीआईटीएस में यूपी के निर्यात प्रोत्साहन उपायों को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करने के लिए लखनऊ में मनोज कुमार सिंह आईएएस व संरचना ने औद्योगिक विकास आयुक्त और नोएडा, ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण/अध्यक्षों के साथ एक बैठक की।

यूपीआईटीएस एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य उद्योग जगत के नेताओं, व्यवसायों और विभिन्न क्षेत्रों के पेशेवरों को एक वैश्विक मंच पर एक साथ लाना है। इस मेले में विनिर्माण, प्रौद्योगिकी, कृकृषि, कपड़ा, स्वास्थ्य सेवा, पर्यटन और अन्य सहित विविध प्रकार के उद्योगों को मुख्य रूप से प्रतिनिधित्व मिलने की उम्मीद है। यूपीआईटीएस कंपनियों को अपने उत्पादों और सेवाओं को प्रदर्शित करने संभावित भागीदारों के साथ नेटवर्क बनाने और क्षेत्र में व्यापार के नए अवसरों को खोजने के लिए एक बी2बी और बी2सी मंच प्रदान करता है।

डा. राकेश कुमार ने यूपीआईटीएस की तैयारियों पर बात करते हुए बताया कि बैठक बेहद सौहार्दपूर्ण रही और परिणामोन्मुखी चर्चा हुई। डा. कुमार ने आगे बताया कि आगामी जेवर हवाई अड्डे के बनने से बुनियादी ढांचे का विकास होगा और औद्योगिक प्रोत्साहन के लिए पूरे गौतमबुद्ध नगर, आगरा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए यह एक गेम चेंजर साबित होगा। आईईएमएल वर्तमान में एक प्रमुख विस्तार योजना से गुजर रहा है।

बैठक में हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) के पूर्व अध्यक्ष और आईईएमएल के वर्तमान निदेशक सुधीर त्यागी ने भी भाग लिया।

इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट के अध्यक्ष डा. राकेश कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश राज्य सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है जो इसे भारत का सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार बनाता है। उत्तर प्रदेश भारत की जीडीपी में 8 प्रतिशत से अधिक का योगदान देता है और व्यापार करने में आसानी के मामले में दूसरे स्थान पर है। समावेशी, टिकाऊ और संतुलित विकास के लक्ष्य को बढ़ावा देने वाली नीतियों के साथ, राज्य अगले पांच वर्षों में 1 ट्रिलियन का लक्ष्य हासिल करने का लक्ष्य बना रहा है। उत्तर प्रदेश राज्य से हस्तशिल्प का निर्यात लगभग 8000 करोड़ रुपये है।

इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट ग्रेटर नोएडा में भारत के शीर्ष 4 सबसे बड़े एकीकृत प्रदर्शनियों और सम्मेलन स्थलों में से एक हैं जो 58 एकड़ भूमि में फैला हुआ हैए जिसमें 2,34,453,29 वर्ग मीटर क्षेत्र का एक बिल्ड अप काम्प्लेक्स हैए जो प्रदर्शनी और सम्मेलन सुविधाओं से सुसज्जित होने के साथ व्यापार का एक संयोजित स्थान है। कंपनी के पास प्रदर्शनियों और व्यापार मेलों के प्रबंधन और संगठन में लगभग 15 वर्षों का परिचालन अनुभव है। आयोजन स्थल में 14 बहुउद्देशीय हॉल, 134 कमरों का गेस्ट हाउसए लाउंज, एक विशाल खुला क्षेत्र, गहन पार्किंग और आधुनिक सुरक्षा की सुविधाओंसे लैस हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/निमित जायसवाल/बृजनंदन