Breaking news

  • कोविड-19 : डीडीएमए बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विशेषज्ञों से मौत के मामलों का ‘ऑडिट’ करने और इन्हें कम करने के लिए सुझाव देने का अनुरोध किया : सूत्र ।   
  • पटना: बिहार विधानसभा में राजद विधायकों ने स्पीकर चुनाव में ध्वनि मत का विरोध करते हुए हंगामा किया। राजद MLA तेजस्वी यादव कहते हैं, "ये आपका दायित्व है महोदय की सदन की कार्रवाई नियमावली के अनुसार चले। जब तक दूसरे सदन के सदस्य बाहर नहीं जाएंगे, ये तो बेईमानी है।"   
  • दिग्गज कांग्रेस नेता अहमद पटेल जी के निधन के बारे में सुनकर गहरी पीड़ा हुई। मैं दुःख की इस घड़ी में उनके परिवार के सदस्यों और समर्थकों के लिए शक्ति की प्रार्थना करता हूं: भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा   
  • लखनऊ: यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फ्लिपकार्ट कंपनी द्वारा स्वास्थ्य विभाग को 50,000 PPE किट्स देने पर धन्यवाद ज्ञापित किया।   
  • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का बुधवार तड़के निधन हो गया. इस बात की जानकारी उनके बेटे फैजल पटेल ने ट्वीट के जरिए दी. इसके साथ ही फैजल ने सभी से कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने की अपील भी की.   

विदेश

गले पर दबाव बनाकर संदिग्धों को पकड़ने की पुलिस की ‘‘खतरनाक’’ तकनीक पर विश्वभर में छिड़ी बहस

ला पेक (फ्रांस), तीन जून (एपी) अमेरिका के मिनियापोलिस में अफ्रीकी-अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस कार्रवाई के दौरान गला दबाए जाने के कारण मौत की घटना के मात्र तीन तीन बाद पेरिस में भी एक ऐसी ही घटना का वीडियो वायरल हुआ, जिसमें एक पुलिस अधिकारी एक काले संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ने के लिए उसके गले पर घुटना रखे दिखाई दे रहा है।

दुनियाभर के कई देशों की पुलिस संदिग्धों को पकड़ने के लिए उनकी गर्दन पर घुटनों का इस्तेमाल करके उन्हें गतिहीन बनाने की तकनीक इस्तेमाल करती हैं और इसकी काफी आलोचना होती रही है।

इस प्रकार की तकनीक के इस्तेमाल से दम घुटने और अन्य कारणों से संदिग्ध की मौत का खतरा होता है। फ्लॉयड की मौत पर अमेरिका समेत विश्वभर में रोष का एक कारण यह है कि पुलिस हिरासत में इस प्रकार की तकनीक का इस्तेमाल अकसर काले संदिग्धों पर किया जाता है।

फ्रांस के सांसद फ्रांस्वा रफीं ने कहा, ‘‘हम ऐसा नहीं कह सकते कि अमेरिका की घटना हमारे लिए नई है।’’

रफीं ने फ्रांस में इस प्रकार की तकनीकों पर रोक लगाए जाने की मांग की हैं, जिनमें संदिग्ध का मुंह जमीन पर नीचे की ओर रखकर उसे गर्दन या उसके पास से दबाया जाता है ताकि वह अपनी जगह से हिल न सके।

ह्यूस्टन निवासी फ्लॉयड की मिनियापोलिस में 25 मई को उस समय मौत हो गई थी, जब एक श्वेत पुलिस अधिकारी ने उसके गले को अपने घुटने से तब तक दबाए रखा, जब तक कि उसकी सांसें नहीं रुक गई।

पेरिस में भी 28 मई को एक ऐसा मामला सामने आया, जब एक अधिकारी ने एक काले व्यक्ति को पकड़ने के दौरान उसके जबड़े, गर्दन और सीने के ऊपरी हिस्से को अपने घुटने और जांघ से दबाया, ताकि वह अपनी जगह से हिल न सके।

इस वीडियो को पास से गुजर रहे लोगों ने रिकॉर्ड कर लिया और इसे ऑनलाइन साझा किया।

पुलिस का दावा है कि यह संदिग्ध व्यक्ति नशे में वाहन चला रहा था और उसने गिरफ्तारी से बचने की कोशिश की थी और पुलिस का अपमान किया था।

हांगकांग में भी पुलिस बल गले पर दबाव बनाकर पकड़े गए एक व्यक्ति की मौत संबंधी घटना की जांच कर रहा है।

दुनियाभर के पुलिस विभागों में इस तकनीक के इस्तेमाल संबंधी नियम अलग-अलग हैं।

बेल्जियम में पुलिस प्रशिक्षक स्टेनी ड्यूरीयक्स ने कहा कि सदिंग्ध पर पूरी तरह से भार डालना मना है क्योंकि इससे उसकी पसली टूट सकती है और उसका दम घुट सकता है।

इजराइल के पुलिस प्रवक्ता मिकी रोसेनफेल्ड ने कहा, ‘‘ऐसी कोई रणनीति या प्रोटोकॉल नहीं है, जो गर्दन या श्वसनमार्ग पर दबाव बनाने की सलाह देता हो।’’

जर्मनी की पुलिस के अनुसार उनके देश में अधिकारियों को संदिग्ध के सिर के एक हिस्से पर थोड़ा दबाव दे सकने की अनुमति है, लेकिन गर्दन पर ऐसा करने की अनुमति नहीं है।

ब्रिटेन में लंदन पुलिस की वेबसाइट के अनुसार गर्दन को किसी भी प्रकार से दबाने की प्रक्रिया को हतोत्साहित किया गया है, क्योंकि यह ‘‘अत्यंत खतरनाक’’ हो सकता है।

देश के भीतर भी नियम भिन्न-भिन्न हो सकते हैं। न्यूयॉर्क पुलिस को संदिग्ध के ‘‘सीने या पीठ या बैठकर, घुटने रखकर या खड़े होकर दबाव बनाने से बचने’’ की सलाह दी जाती है और ‘‘गले पर दबाव बनाना मना है’’। दूसरी ओर सैन डिएगो में बाजू के साथ गर्दन पर दबाव बनाकर रक्त प्रवाह रोकने की तकनीक अपनाने की अनुमति है। हालांकि फ्लॉयड की मौत के बाद इस संबंधी आदेश में बदलाव लाया जाएगा।

फ्रांस की पुलिस युनियन के एक पदाधिकारी क्रिस्तोफ रोउजे ने कहा, ‘‘दुनियाभर की पुलिस इन तकनीकों का इस्तेमाल करती है, क्योंकि इनमें खतरा अपेक्षाकृत कम है, लेकिन पुलिसकर्मियों को इनका अच्छे से प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए। हमने देखा कि अमेरिका में इस तकनीक का सही प्रकार के उपयोग नहीं किया गया। गलत जगह पर और अधिक समय तक दबाव दिया गया।’’

DON'T MISS

हमदाबाद, दो जून गुजरात में चक्रवाती तूफान निसर्ग

DON'T MISS

साईबेरिया में डीजल ईंधन बहने के बाद आपातकाल की घोषणा

चेन्नई

चेन्नई के जलाशयों में पानी लगभग भर चुका है, अधिकारियों ने मुख्य जलाशयों से पानी छोड़ने को कहा

चेन्नई के जलाशयों में पानी लगभग भर चुका है, अधिकारियों ने मुख्य जलाशयों से पानी छोड़ने को कहा

चेन्नई के जलाशयों में पानी लगभग भर चुका है, अधिकारियों ने मुख्य जलाशयों से पानी छोड़ने को कहा

देश

ताजा सौदों की लिवाली से सोयाबीन वायदा कीमतों में तेजी

ताजा सौदों की लिवाली से सोयाबीन वायदा कीमतों में तेजी

ताजा सौदों की लिवाली से सोयाबीन वायदा कीमतों में तेजी

देश

ताजा सौदों की लिवाली से बिनौलातेल खली वायदा कीमतों में तेजी

ताजा सौदों की लिवाली से बिनौलातेल खली वायदा कीमतों में तेजी

ताजा सौदों की लिवाली से बिनौलातेल खली वायदा कीमतों में तेजी

देश

डि ग्रैंडहोम, पटेल वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला के लिए न्यूजीलैंड टीम से बाहर

डि ग्रैंडहोम, पटेल वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला के लिए न्यूजीलैंड टीम से बाहर

डि ग्रैंडहोम, पटेल वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला के लिए न्यूजीलैंड टीम से बाहर

देश

जेएसडब्ल्यू सीमेंट की दिसंबर 2022 में सूचीबद्ध होने की तैयारी

जेएसडब्ल्यू सीमेंट की दिसंबर 2022 में सूचीबद्ध होने की तैयारी

जेएसडब्ल्यू सीमेंट की दिसंबर 2022 में सूचीबद्ध होने की तैयारी


trending