Breaking news

  • हमने राष्ट्रपति से अनुरोध किया कि वे सरकार पर ज्वाइंट सेलेक्ट कमेटी बनाने पर दबाव डालें क्योंकि सरकार कृषी क़ानून के मुद्दे पर विफल है। हमने मांग रखी कि सरकार आंदोलन के दौरान मरे किसानों के परिवार से मिले। सरकार मानना नहीं चाहती कि किसी किसान की मौत हुई है: हरसिमरत कौर बादल, SAD   
  • लोगों ने स्वतंत्रता संग्राम में ‘स्वराज’ के लिए लड़ाई लड़ी,आपको खुद को ‘सुराज’ के प्रति समर्पित करना होगा : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय पुलिस सेवा के परिवीक्षार्थियों (प्रोबेशनर्स) से कहा।   
  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में पिछले 24 घंटों में 41,649 नए #COVID19 मामले, 37,291 रिकवरी और 593 मौतें दर्ज़ की गई। कुल मामले: 3,16,13,993 सक्रिय मामले: 4,08,920 रिकवरी: 3,07,81,263 मृत्यु: 4,23,810 देशभर में अब तक वैक्सीनेशन के तहत 46,15,18,479 डोज़ दी गई हैं।   
  • बॉक्सिंग, पुरुष फ्लाईवेट (48-52 किग्रा) प्रारंभिक - राउंड ऑफ 16 में भारत के मुक्केबाज अमित पंघाल (फाइल तस्वीर) कोलंबिया के युबरजेन मार्टिनेज से 4-1 से हारे   
  • कमलप्रीत कौर ने 64.00 मीटर के थ्रो के साथ महिला डिस्कस थ्रो फाइनल के लिए क्वालीफाई किया।   

विदेश

इसरो, एनओएए के नेतृत्व वाली एक बहुराष्ट्रीय परियोजना का संरा ने किया समर्थन

वाशिंगटन: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और अमेरिका के प्रतिष्ठान एनओएए के सह-नेतृत्व में एक बहुराष्ट्रीय परियोजना को संयुक्त राष्ट्र की एक संस्था ने इसमें इस्तेमाल में लाई गई नवीन प्रौद्योगिकी के लिए अपना समर्थन दिया है। इस परियोजना का उद्देश्य उपग्रह तथा भूमि-आधारित अवलोकनों के आधार पर सटीक तटीय आंकड़े प्राप्त करना है, ताकि इनका इस्तेमाल वैज्ञानिकों के बीच विश्वास तथा सहयोग को बढ़ावा देने के लिए किया जा सके।

राष्ट्रीय महासागरीय और वायुमंडलीय प्रशासन (एनओएए) ने बुधवार को एक बयान में बताया कि इस परियोजना को ‘पृथ्वी निगरानी उपग्रह-तटीय अवलोकन, अनुप्रयोग, सेवाएं एवं उपकरण (सीईओएस सीओएएसटी) के लिए समिति’ कहा जा है। इसकी प्रारंभिक परियोजनाएं ‘ओशन डिकेड’ पहल के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा निर्दिष्ट 17 सतत विकास लक्ष्यों में से कई को पूरा करने के लिए पृथ्वी निगरानी प्रौद्योगिकियों का उपयोग करने में विशेष रूप से सक्षम है। इन परियोजनाओं के विषयों में महाद्वीपीय तटरेखाओं और छोटे द्वीप राष्ट्रों के बीच आपदा जोखिम में कमी और तटीय लचीलापन लाना शामिल हैं।

उसने कहा, ‘‘ इनके काम से समुद्र के भूमि को प्रभावित करने के अध्ययन के हमारे तरीके में सुधार आएगा, उदाहरण के लिए भीषण बाढ़, साथ ही भूमि उपयोग तटीय पारिस्थितिकी तंत्र को कैसे प्रभावित करता है, इसका पता चलेगा, लेकिन यह केवल पानी की गुणवत्ता के मुद्दों, तटीय अपवाह तथा तलछट समेत मूल कारणों तक सीमित नहीं है।’’

बयान में कहा गया कि सीईओएस सीओएएसटी कृषि, निर्माण, और वाणिज्यिक और मछली पकड़ने जैसे उद्योगों के हितधारकों के साथ मिलकर काम कर रहा है। परियोजना को हाल ही में अंतरराष्ट्रीय समुद्र विज्ञान आयोग (आईओसी) ने अपना समर्थन प्रदान किया है, जो संयुक्त राष्ट्र की महासागर दशक (ओशन डिकेड) योजना की प्रारंभिक कार्रवाई के रूप में 2021–2030 तक चलेगी।

मिजोरम

मिजोरम के राज्यपाल ने राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात की

मिजोरम के राज्यपाल ने राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात की

मिजोरम के राज्यपाल ने राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात की

देश

नायडू ने भारतीय भाषाओं की रक्षा में नवोन्मेषी, सहयोगपूर्ण प्रयासों का किया आह्वान

नायडू ने भारतीय भाषाओं की रक्षा में नवोन्मेषी, सहयोगपूर्ण प्रयासों का किया आह्वान

नायडू ने भारतीय भाषाओं की रक्षा में नवोन्मेषी, सहयोगपूर्ण प्रयासों का किया आह्वान

असम

विवादों और दंगों को बीज की तरह बोने का परिणाम भयानक होगा: राहुल

विवादों और दंगों को बीज की तरह बोने का परिणाम भयानक होगा: राहुल

विवादों और दंगों को बीज की तरह बोने का परिणाम भयानक होगा: राहुल

दिल्ली

आईआईटी फ्लाईओवर के नीचे सड़क का हिस्सा धंसा, यातायात प्रभावित

आईआईटी फ्लाईओवर के नीचे सड़क का हिस्सा धंसा, यातायात प्रभावित

आईआईटी फ्लाईओवर के नीचे सड़क का हिस्सा धंसा, यातायात प्रभावित

कर्नाटक

केंद्र कर्नाटक को 11,400 करोड़ रुपये का बकाया जीएसटी मुआवजा देने को राजी

केंद्र कर्नाटक को 11,400 करोड़ रुपये का बकाया जीएसटी मुआवजा देने को राजी

केंद्र कर्नाटक को 11,400 करोड़ रुपये का बकाया जीएसटी मुआवजा देने को राजी


trending