Breaking news

  • देश में कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 18,21,99,668 हो गया है। 18-44 वर्ष आयु वर्ग के 5,58,477 लाभार्थियों को आज COVID वैक्सीन की पहली डोज़ मिली। कुल मिलाकर 32 राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में इस आयु वर्ग के लोगों को 48,21,550 डोज़ लगाई गई हैं: स्वास्थ्य मंत्रालय #CovidVaccine ।   
  • ब्लैक फंगस को हरियाणा में अधिसूचित रोग घोषित कर दिया गया है। इसके तहत किसी भी सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल में अगर ब्लैक फंगस का कोई मामला आता है तो CMO को उसकी जानकारी देना अनिर्वाय होगा: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ।   
  • पुडुचेरी में पिछले 24 घंटों में 1598 नए #COVID19 मामले, 1774 डिस्चार्ज और 20 मौतें दर्ज़ की गई। सक्रिय मामले: 17,228   
  • देशभर में औसत 89% स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन की पहली डोज़ दी गई है। राजस्थान में 95%, मध्य प्रदेश में 96% और छत्तीसगढ़ में 99% स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन दी गई है। दिल्ली में यह 78% है: डॉ वी.के. पॉल, नीति आयोग के सदस्य   
  • दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस की स्थिति और वैक्सीनेशन पर उच्च स्तरीय बैठक की।   

दिल्ली

हल्के लक्षणों वाले कोरोना मरीजों को दी जा सकती है एंटी वायरल दवा ‘क्लेवीरा’

नयी दिल्ली : शुरूआत में डेंगू के इलाज के लिए विकसित की गई एंटी वायरल दवा ‘क्लेवीरा’ को कोरोना वायरस से संक्रमित हल्के और मध्यम लक्षणों वाले मरीजों के इलाज में सहायक उपचार के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस दवा के निर्माता ऐपेल्क्स लैबोरेट्रीज प्राइवेट लिमिटेड ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि दवा को लगातार 14 दिन तक भोजन के बाद मुंह से एक एक गोली के तौर पर लिए जाने पर यह प्रभावी है। इसे दिन में दो बार लिया जाना चाहिए।

चेन्नई स्थित फार्मास्युटिकल कंपनी ने बयान में कहा,‘‘ क्लेवीरा, एंटी वायरल दवा को हल्के से मध्यम लक्षण वाले कोरोना मरीजों को सहायक उपचार के तौर पर नियामकीय मंजूरी मिल चुकी है।’’

कंपनी ने कहा,‘‘ क्लेवीरा को मुख्य रूप से 2017 में डेंगू मरीजों के उपचार के लिए विकसित किया गया था । पिछले साल, देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर इसे कोरोना संक्रमण के सहायक उपचार के तौर पर रखा गया है।यह दवा देशभर में 11 रूपये प्रति गोली की कीमत पर उपलब्ध है।’’

बयान में कहा गया है कि पिछले वर्ष सौ लोगों पर इसका क्लीनिकल परीक्षण किया गया और उसके परिणाम ‘‘आशाजनक ’’ थे ।

कंपनी ने बताया, ‘‘ काफी कड़ी जांच और गहन विचार विमर्श के बाद, इस दवा को हल्के से मध्यम लक्षणों वाले कोरोना संक्रमित मरीजों के सहायक उपचार के रूप में मंजूरी मिल गई है । यह मंजूरी आयुष मंत्रालय के नियामकों ने दी है जो देश में इस प्रकार की पहली मंजूरी है। साथ ही केंद्रीय आयुर्वेदिक विज्ञान शोध परिषद (सीसीआरएएस) तथा अंतर विषयक तकनीकी समीक्षा समिति (आईटीआरसी) ने भी इसे जांचा परखा है।’’

कंपनी के अंतरराष्ट्रीय कारोबार विभाग के प्रबंधक सी आर्थर पाल ने बताया, ‘‘क्लेवीरा लीवर और किडनी संबंधी बीमारियों से पीड़ित मरीजों के लिए पूरी तरह सुरक्षित है और इसे दूसरी अन्य दवाओं के साथ देने में कोई नुकसान नहीं है। ’’

उन्होंने बताया कि इस दवा को दो साल के बच्चे से लेकर सभी आयु वर्ग के मरीजों को दिया जा सकता है।

विदेश

बाइडन और नेतन्याहू ने गाजा के हालात पर की चर्चा

बाइडन और नेतन्याहू ने गाजा के हालात पर की चर्चा

बाइडन और नेतन्याहू ने गाजा के हालात पर की चर्चा

देश

देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 18.22 करोड़ खुराक दी गईं

देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 18.22 करोड़ खुराक दी गईं

देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 18.22 करोड़ खुराक दी गईं

देश

स्वतंत्रता के बाद कोविड-19 देश की शायद सबसे बड़ी चुनौती : राजन

स्वतंत्रता के बाद कोविड-19 देश की शायद सबसे बड़ी चुनौती : राजन

स्वतंत्रता के बाद कोविड-19 देश की शायद सबसे बड़ी चुनौती : राजन

बिहार

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण से 73 और मरीजों की मौत, 7,336 नए मामले

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण से 73 और मरीजों की मौत, 7,336 नए मामले

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण से 73 और मरीजों की मौत, 7,336 नए मामले

दिल्ली

केजरीवाल ने कोविड-19 एकीकृत कमान एवं नियंत्रण केंद्र की शुरुआत की

केजरीवाल ने कोविड-19 एकीकृत कमान एवं नियंत्रण केंद्र की शुरुआत की

केजरीवाल ने कोविड-19 एकीकृत कमान एवं नियंत्रण केंद्र की शुरुआत की


trending