Breaking news

  • देश में कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 18,21,99,668 हो गया है। 18-44 वर्ष आयु वर्ग के 5,58,477 लाभार्थियों को आज COVID वैक्सीन की पहली डोज़ मिली। कुल मिलाकर 32 राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में इस आयु वर्ग के लोगों को 48,21,550 डोज़ लगाई गई हैं: स्वास्थ्य मंत्रालय #CovidVaccine ।   
  • ब्लैक फंगस को हरियाणा में अधिसूचित रोग घोषित कर दिया गया है। इसके तहत किसी भी सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल में अगर ब्लैक फंगस का कोई मामला आता है तो CMO को उसकी जानकारी देना अनिर्वाय होगा: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ।   
  • पुडुचेरी में पिछले 24 घंटों में 1598 नए #COVID19 मामले, 1774 डिस्चार्ज और 20 मौतें दर्ज़ की गई। सक्रिय मामले: 17,228   
  • देशभर में औसत 89% स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन की पहली डोज़ दी गई है। राजस्थान में 95%, मध्य प्रदेश में 96% और छत्तीसगढ़ में 99% स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन दी गई है। दिल्ली में यह 78% है: डॉ वी.के. पॉल, नीति आयोग के सदस्य   
  • दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस की स्थिति और वैक्सीनेशन पर उच्च स्तरीय बैठक की।   

देश

कोरोना के लक्षण दिखने के बाद भी इसलिए आती है निगेटिव रिपोर्ट, जानें ऐसा होने पर क्या करें

नई दिल्ली: भारत में कोरोना की दूसरी लहर लोगों पर कहर बनकर टूटी है. देश में एक दिन में कोरोना के 3.5 लाख के करीब नए मामले सामने आ रहे हैं और हजारों संक्रमितों की मौत हो रही है. लेकिन एक सवाल लोगों को काफी परेशान कर रह है कि कोरोना के लक्षण होने के बाद भी उनका कोविड टेस्ट निगेटिव क्यों आ रहा है.

 

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान इस समय गलत निगेटिव रिपोर्ट आना बेहद खतरनाक हो सकता है. इससे इलाज में देरी हो सकती है और व्यक्ति की हालत साधारण से गंभीर हो सकती है. गलत निगेटिव रिपोर्ट आने से संक्रमण के प्रसार का खतरा भी बढ़ सकता है. सबसे पहले यह जान लेते हैं कि बुखार, सर्दी, खांसी, बदन दर्द, अत्यधिक थकान और दस्त को कोरोना के सामान्य लक्षण के तौर पर देखा जाता है. ये लक्षण दिखने पर कोरोना टेस्ट करने की सलाह दी जाती है.

 

दो तरह के टेस्ट
आपको कोरोना है या नहीं, यह जानने के लिए दो तरह के टेस्ट उपबल्बध हैं. आरटी-पीसीआर और एंटीजन टेस्ट. इनमें आरटी-पीसीआर टेस्ट को डॉक्टर्स सबसे सही मानते हैं.

 

क्या है आरटी-पीसीआर टेस्ट?
रियल टाइम रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलीमरेज चेन रिएक्शन यानी आरटी-पीसीआर टेस्ट में नाक या गले से एक नमूना (स्वैब) लिया जाता है. एक बार मरीज की नाक या गले से स्वैब लेने के बाद उसे एक तरल पदार्थ में डाला जाता है. रूई पर लगा वायरस उस पदार्थ के साथ मिल जाता है और उसमें एक्टिव रहता है. फिर इस नमूने को टेस्ट के लिए लैब में भेजा जाता है.

 

100% कोई टेस्ट सटीक नहीं
आरटी-पीसीआर टेस्ट अत्यधिक संवेदनशील होता है और काफी हद तक सही परिणाम भी देता है. यह जानना महत्वपूर्ण है कि कोई भी परीक्षण 100% सटीक नहीं है और बहुत सारे कारण हैं जिनकी वजह से एक व्यक्ति को गलत निगेटिव रिपोर्ट मिल सकती है. रिसर्च बताती है कि जबकि आरटी-पीसीआर टेस्ट शरीर में वायरल उपस्थिति का पता लगाने के लिए अच्छी तरह से काम करता है. इसकी सटीकता बहुत सारे कारकों के आधार पर भिन्न हो सकती है.

उत्तराखंड

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राज्य में COVID19 स्थिति की समीक्षा बैठक

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राज्य में COVID19 स्थिति की समीक्षा बैठक

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राज्य में COVID19 स्थिति की समीक्षा बैठक

देश

साप्ताहिक राशिफल , पं. अशोक दीक्षित दिनांक - 16 से 22 मई, 2021

साप्ताहिक राशिफल , पं. अशोक दीक्षित  दिनांक - 16 से 22 मई, 2021

साप्ताहिक राशिफल , पं. अशोक दीक्षित दिनांक - 16 से 22 मई, 2021

दिल्ली

दिल्ली में अस्पतालों से ठीक होकर घर जाने वाले कोविड रोगियों के लिए ऑक्सीजन सांद्रक संबंधी एसओपी जारी

दिल्ली में अस्पतालों से ठीक होकर घर जाने वाले कोविड रोगियों के लिए ऑक्सीजन सांद्रक संबंधी एसओपी जारी

दिल्ली में अस्पतालों से ठीक होकर घर जाने वाले कोविड रोगियों के लिए ऑक्सीजन सांद्रक संबंधी एसओपी जारी

दिल्ली

वैक्सीन उत्पादन बढ़ाने के लिए पूरी कोशिश जारी : पूनावाला

वैक्सीन उत्पादन बढ़ाने के लिए पूरी कोशिश जारी : पूनावाला

वैक्सीन उत्पादन बढ़ाने के लिए पूरी कोशिश जारी : पूनावाला

दिल्ली

भारत में जुलाई तक टीकों की 51.6 करोड़ खुराकें दी जा चुकी होंगी: हर्षवर्धन

भारत में जुलाई तक टीकों की 51.6 करोड़ खुराकें दी जा चुकी होंगी: हर्षवर्धन

भारत में जुलाई तक टीकों की 51.6 करोड़ खुराकें दी जा चुकी होंगी: हर्षवर्धन


trending