Breaking news

  • दिल्ली: किसान प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर रैली के लिए बुराड़ी के निरंकारी समागम ग्राउंड से टिकरी बॉर्डर के लिए रवाना हुए। एक प्रदर्शनकारी ने बताया, "हम टिकरी बॉर्डर जा रहे हैं, टिकरी बॉर्डर पर ट्राली खड़ी करके हम 26 जनवरी की ट्रैक्टर परेड की तैयारी करेंगे।"   
  • हमारे ​देश में जितने सड़क हादसे हो रहे हैं उससे देश की अर्थव्यवस्था में जीडीपी के 3% का नुकसान होता है। इसलिए इस राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का हर साल आयोजन महत्वपूर्ण है: राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के उद्घाटन कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह   
  • राजस्थान: राज्य में आज से 9वीं से 12वीं के छात्रों के स्कूल खुल गए हैं। जयपुर के महात्मा गांधी सरकारी स्कूल की प्रधानाचार्या ने बताया, "अभिभावकों की सहमति से बच्चों को बुलाया गया है।सरकार की गाइडलाइन है कि 10वीं और 12वीं के छात्र 9:30 बजे और 11वीं और 9वीं के छात्र 10 बजे आएंगे।"   
  • अहमदाबाद मेट्रो फेज-1 का कार्य जोर-शोर से चल रहा है, जून 2022 में जब देश स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा ये काम पूरा हो जाएगा:अहमदाबाद मेट्रो रेल परियोजना के दूसरे चरण और सूरत मेट्रो परियोजना के भूमि पूजन कार्यक्रम में केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी   
  • भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा 21 से 22 जनवरी को उत्तर प्रदेश के लखनऊ का दौरा करेंगे और राज्य के नेताओं के साथ राज्य संगठन और सरकार पर चर्चा करेंगे: बीजेपी सूत्र   

देश

उत्पन्ना एकादशी 2020: घर की कलह को नाश करता है उत्पन्ना एकादशी का व्रत, जानें पूजा विधि और समय

एकादशी का व्रत सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाला माना गया है. एकादशी व्रत का महामात्य महाभारत में भी मिलता है. पौराणिक कथाओं के अनुसार युधिष्ठिर और अर्जुन को स्वंय भगवान श्रीकृष्ण ने एकादशी व्रत के महत्व के बारे में बताया था और एकादशी व्रत को रखने की संपूर्ण विधि भी बताया थी.

 

पंचांग के अनुसार 11 दिसंबर को मार्गशीर्ष यानि अगहन मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि है. इस एकादशी तिथि को उत्पन्ना एकादशी कहा जाता है. उत्पन्ना एकादशी की व्रत सभी प्रकार के पापों से मुक्ति दिलाने वाला माना गया है. ऐसी मान्यता है कि उत्पन्ना एकादशी का व्रत दांपत्य जीवन में मधुरता लाता है. एकादशी का व्रत कलह और तनाव का भी नाश करता है.

 

उत्पन्ना एकादशी का व्रत भगवान विष्णु को समर्पित है
उत्पन्ना एकादशी का व्रत भगवान विष्णु को समर्पित है. इस दिन भगवान विष्णु की विशेष उपासना की जाती है. विधि पूर्वक इस व्रत को पूर्ण करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों को आर्शीवाद प्रदान करते हैं.

 

दांपत्य जीवन में आने वाली परेशानी दूर होती हैं
उत्पन्ना एकादशी का व्रत दांपत्य जीवन में आने वाली परेशानियों को भी दूर करता है. घर की नकारात्मक ऊर्जा का भी नाश होता है. इस व्रत को रखने से घर में सुख समृद्धि आती है, लक्ष्मी जी का आर्शीवाद प्राप्त होता है. रोग, धन हानि और अज्ञात भय से मुक्ति मिलती है.

 

एकादशी व्रत की विधि
एकादशी की तिथि पर सुबह स्नान करने के बाद व्रत का संकल्प लेना चाहिए. इसके बाद भगवान विष्णु की पूजा आरंभ करनी चाहिए. पूजा के दौरान पीले वस्त्र और फूलों को चढ़ाना चाहिए. शाम को भी पूजा करनी चाहिए. एकादशी व्रत पारण का अगले दिन किया जाता है.

 

उत्पन्ना एकादशी का मुहूर्त
11 दिसंबर 2020- सुबह पूजन मुहूर्त: सुबह 5:15 बजे से सुबह 6:05 बजे तक
11 दिसंबर 2020-संध्या पूजन मुहूर्त: शाम 5:43 बजे से शाम 7:03 बजे तक
12 दिसंबर 2020-पारण: सुबह 6:58 बजे से सुबह 7:02 मिनट तक

DON'T MISS

हमदाबाद, दो जून गुजरात में चक्रवाती तूफान निसर्ग

DON'T MISS

कंगना रौनत ने किया मां दुर्गा का मंदिर बनाने का ऐलान, बोली- मां ने मंदिर निर्माण के लिए मुझे चुना

देश

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

वैश्विक बाजारों की मंदी से सेंसेक्स 470 अंक टूटा, निफ्टी 14,300 अंक से नीचे

देश

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

रुपया 21 पैसे लुढ़ककर 73.28 रुपये प्रति डॉलर पर

महाराष्ट्र

मीडिया ट्रायल से न्याय देने की प्रक्रिया बाधित होती है: बंबई उच्च न्यायालय

मीडिया ट्रायल से न्याय देने की प्रक्रिया बाधित होती है: बंबई उच्च न्यायालय

मीडिया ट्रायल से न्याय देने की प्रक्रिया बाधित होती है: बंबई उच्च न्यायालय

मुंबई

ऋचा चड्ढा को मिल रही जान से मारने की धमकी, जीभ काटने पर रखा ईनाम

ऋचा चड्ढा को मिल रही जान से मारने की धमकी, जीभ काटने पर रखा ईनाम

ऋचा चड्ढा को मिल रही जान से मारने की धमकी, जीभ काटने पर रखा ईनाम

उत्तर प्रदेश

विधान परिषद चुनाव में भाजपा के विधायक भागने को तैयार : अखिलेश

विधान परिषद चुनाव में भाजपा के विधायक भागने को तैयार : अखिलेश

विधान परिषद चुनाव में भाजपा के विधायक भागने को तैयार : अखिलेश


trending